UPSC syllabus in Hindi Prelims and Mains 2019

संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस – प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examinations) में दो पेपर रहते हैं, जिसमे से दोनों ही अनिवार्य हैं। दोनों ही पेपर २०० अंक के होते हैं. इन दोनों पेपर को सामान्य अध्ययन(General Studies) पेपर प्रथम और सामान्य अध्ययन(General Studies) पेपर द्वितीय कहते हैं।

प्रारंभिक पेपर -१ के लिए UPSC सिलेबस २०० अंक 

• राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं 
• भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास 
• भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल 
• भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि
• आर्थिक और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास, गरीबी, समावेशन , जनसांख्यिकी , सामाजिक क्षेत्र की पहलें आदि
• पर्यावरण पारिस्थितिकी जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे
• सामान्य विज्ञान

प्राम्भिक पेपर -२ के लिए UPSC सिलेबस -२०० अंक

• बोधगम्यता (Comprehension)
• पारस्परिक कौशल—संचार कौशल (Interpersonal skills including communication skills) सहित
• तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability)
• निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता (Logical reasoning and analytical ability)
• सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability)
• बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध (numbers and their relations, orders of magnitude, आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन Data interpretation (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता (data sufficiency) आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)

नेगेटिव मर्किंग (negative marking=1/3 or 0.33%)


मुख्य परीक्षा (MAINS) के लिए UPSC सिलेबस

संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में एक उम्मीदवार का रैंक केवल मुख्य और साक्षात्कार (interview) परीक्षा के टोटल मार्क्स पर निर्भर करता है। साक्षात्कार के कुल मार्क्स 275 हैं, जबकि मुख्य परीक्षा के 1750.

लिखित परीक्षा (मुख्य) mains exam में कुल नौ पेपर होंगे. लेकिन उनमें से केवल 7 पेपर के मार्क्स अंतिम मेरिट रैंकिंग के लिए जोड़े जाएगें। बाकी दो सिर्फ क्वालीफाइंग पेपर होंगे.

पेपर – ए – भारतीय भाषा – सिलेबस Indian Language – Syllabus

भारतीय भाषाओं में से एक भाषा, जो संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल है, उसे पेपर – ए के लिए उम्मीदवार द्वारा चयनित किया जाना है। यह पत्र अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड और सिक्किम के रहने वाले उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य नहीं होगा। इस पेपर का पूर्णांक 300 है. इस पेपर में क्वालीफाइंग मार्क्स 90 है यानी 30%.

1. Comprehension of given passages (बोधगम्यता)
2. Precis Writing (संक्षिप्त लेखन)
3. Usage and Vocabulary (शब्द प्रयोग व शब्द भण्डार)
4. Short Essay (संक्षिप्त लेख)
5. Translation from English to the Indian language and vice‐versa (अंग्रेजी से भारतीय भाषा तथा भारतीय भाषा से अंग्रेजी में)

पेपर – बी- अंग्रेजी भाषा – सिलेबस English Language – Syllabus

इस पेपर का पूर्णांक 300 है. इस पेपर में क्वालीफाइंग मार्क्स 75 है यानी 25%.
प्रश्नों का पैटर्न मोटे तौर पर निम्नानुसार होगा (The pattern of questions would be broadly as follows) :‐
1. Comprehension of given passages (बोधगम्यता)
2. Precis Writing (संक्षिप्त लेखन)
3. Usage and Vocabulary (शब्द प्रयोग व शब्द भण्डार)
4. Short Essay (संक्षिप्त लेख)

Indian Languages and Scripts Allowed by UPSC for Civil Services Exam
The candidates shall use the following scripts as shown against the respective languages below. (उम्मीदवार निम्नलिखित भाषाओं के लिए नीचे निर्धारित लिपियाँ ही प्रयोग में ला सकते हैं):—

Language Script

Assamese Assamese
Bengali Bengali
Gujarati Gujarati
Hindi Devanagari
Kannada Kannada
Kashmiri Persian
Konkani Devanagari
Malayalam Malayalam
Manipuri Bengali
Marathi Devanagari
Nepali Devanagari
Oriya Oriya
Punjabi Gurumukhi
Sanskrit Devanagari
Sindhi Devanagari or Arabic
Tamil Tamil
Telugu Telugu
Urdu Persian
Bodo Devanagari
Dogri Devanagari
Maithilli Devanagari
Santhali Devanagari or Olchiki

1. पेपर 1 निबंध – 250 मार्क्स
2. पेपर २ सामान्य अध्ययन I – 250 मार्क्स (भारतीय विरासत और संस्कृति, इतिहास और विश्व का भूगोल) (Indian Heritage and Culture, History and Geography of the World and Society).
3. पेपर ३ सामान्य अध्ययन II – 250 मार्क्स (गवर्नेंस, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतरराष्ट्रीय संबंध) (Governance, Constitution, Polity, Social Justice and International relations).
4. पेपर ४ सामान्य अध्ययन III – 250 मार्क्स (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन) (Technology, Economic Development, Bio‐diversity, Environment, Security and Disaster Management)
5. पेपर ५ सामान्य अध्ययन IV – 250 मार्क्स (नैतिकता, ईमानदारी और एप्टीट्यूड) (Ethics, Integrity and Aptitude)
6. पेपर ६ वैकल्पिक विषय – पेपर 1- 250 मार्क्स
7. पेपर ७ वैकल्पिक विषय – पेपर 2- 250 मार्क्स

साक्षात्कार लिए UPSC सिलेबस 

१. UPSC मुख्य पेपर के योग्य उम्मीदवार ही साक्षात्कार के परिक्षण या ब्यक्तित्व परिक्षण के पत्र होंगे।

२. आपका साक्षात्कार बोर्ड के सदस्यों द्वारा होगा जिनके पास आपके करियर का रिकॉर्ड पहले से ही होगा।आपको हित के मामलों पर सवाल पूछा जायेगा।

३. इस साक्षात्कार का उद्देश्य सार्वजनिक सेवा में अपने आगे के करियर के लिए अपने ब्यक्तिगत उपयुक्तता का मूल्याङ्कन करने क लिए होगा।इस परीक्षा से आपका मानसिक क्षमता का निर्णय होगा।

४. इस साक्षात्कार का परिक्षण न केवल आपके बौद्धिक गुणों बल्कि सामाजिक लक्षण और समसामयिक मामलों में भी रूचि प्रगट करेगा।

५. आपके गुणों में से कुछ बौद्धिक और नैतिक अखंडता , मानसिक सतर्कता, सामाजिक सामजस्य और नेतृत्व आत्मसात के महत्वपूर्ण शक्तियों , न्याय के संतुलन , स्पस्ट और तार्किक प्रदर्शनी , विविधता और ब्याज की गहराई के लिए क्षमता को देखा जायेगा।

६. साक्षात्कार की तकनिकी वो सख्त जिरह परीक्षाओं की तरह नहीं लेकिन प्रकितिक सोद्देश्य बातचीत है जो उम्मीदवारों के मानसिक गुणों को प्रगट करती है।

७. आपका साक्षात्कार परीक्षा विशिष्ट या सामान्य ज्ञान है जो लिखित पेपर के परिक्षण से नहीं लिया जाता। आपका बुद्धिमत्ता रूचि सिर्फ आपके अकादमी अध्ययनों पैर ही नहीं लिया जाता बल्कि आपके आस पास क्या हो रहा है , और आपके राज्य व देश के बहार क्या हो रह है इसके साथ ही आधुनिक धाराओं और नई खोज जो शिक्षित युवाओं की जिज्ञासा बढ़नी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *